फ्लैटों का मालिकाना हक पाने के लिए नोएडा निवासियों का 'नो रजिस्ट्री, नो वोट' अभियान

New Update
Noida

नोएडा : जैसे ही राजनीतिक दल आगामी लोकसभा चुनाव के लिए अपना अभियान शुरू कर रहे हैं, नोएडा और आसपास के ग्रेटर नोएडा में हजारों निवासियों ने अपना खुद का एक अभियान शुरू किया है, जिसमें घोषणा की गई है कि जब तक स्थानीय प्राधिकरण उनके द्वारा खरीदे गए फ्लैटों की रजिस्ट्री सुनिश्चित नहीं करता, तब तक वे वोट नहीं डालेंगे। 

कई अपार्टमेंट परिसरों के गेट और दीवारों पर 'रजिस्ट्री नहीं, वोट नहीं' लिखे पोस्टर लगे हैं। कुछ पोस्टरों में स्थानीय भाजपा सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा का भी जिक्र है, जो इस मामले में हस्तक्षेप की मांग कर रहे हैं।

जिन आवासीय परिसरों में विरोध प्रदर्शन तेज हो गया है उनमें नोएडा के सेक्टर 46 में गार्डेनिया ग्लोरी, सेक्टर 75 में फ्यूटेक गेटवे और ग्रेटर नोएडा वेस्ट में हिमालयन प्राइड, निराला ग्रीन्स और निराला ग्लोबल शामिल हैं।

निवासी अभिषेक श्रीवास्तव ने कहा कि वह जिस अपार्टमेंट परिसर में रहते हैं, उसके एक टावर में फ्लैट की रजिस्ट्री दो साल से लंबित है। उन्होंने कहा, ''हम बिल्डर के ऑफिस के चक्कर लगाते-लगाते थक गए हैं।''

बुजुर्ग निवासी राकेश रूहेला ने कहा कि बिल्डर और स्थानीय विकास प्राधिकरण उनकी मदद नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा, "हम सरकार से हमारी रजिस्ट्री सुनिश्चित करने और हमें हमारे फ्लैटों का स्वामित्व देने का आग्रह करते हैं।"

विरोध प्रदर्शनों के कुछ परिणाम निकले हैं। पता चला है कि निराला ग्रीन्स के बिल्डर ने अब बकाया राशि का 25 फीसदी प्राधिकरण को जमा कर दिया है, लेकिन निवासियों की लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है।

Advertisment