लखनऊ - अयोध्या के लिए विशेष ट्रेनें

अयोध्या धाम के लिए लोगों के उत्साह को समझते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने विशेष व्यवस्था के अंतर्गत कई नई बसों और भारतीय रेल ने कई नई ट्रेनों का ऐलान किया है। माना जा रहा है की पूरे वर्ष अयोध्या के लिए लोगों का ताता लगा रहेगा

author-image
राजा चौधरी
एडिट
New Update
Ram Lalla idol

अयोध्या जंक्शन के लिए नई ट्रेनों की सौगात। लखनऊ से अब अयोध्या जाना हुआ आसान।

लखनऊ: 25 जनवरी से चारबाग से अयोध्या के लिए एक के बाद एक मेमू गाड़ी का ऐलान किया गया। सिर्फ यही नहीं बसो की संख्या भी राज्य सरकार द्वारा बढ़ा दी गई है ताकि ज्यादा से ज्यादनलोग दर्शन का लाभ पा सके।

वैसे तो लखनऊ से अयोध्या के लिए 25 जनवरी को मेमू ट्रेन का शुभारम्भ हो गया है लेकिन और भी गाडियो का प्रस्ताव है। उत्तर रेलवे के चारबाग रेलवे स्टेशन से 04204 लखनऊ अयोध्या धाम मेमू ट्रेन चारबाग रेलवे स्टेशन से शाम 5:25 बजे चलकर अयोध्या कैंट पर रात 9:10 बजे पहुंचेगी। वहीं वापसी में आयोध्या कैंट से ट्रेन नंबर 04203 मेमू सुबह 5:45 बजे चलकर सुबह 9:10 बजे चारबाग पहुंचेगी।

 ट्रेन दोनों ओर से मल्हौर, जुग्गौर, सफेदाबाद, बाराबंकी, रसौली, सफदरगंज, सैदखानपुर, दरियाबाद, पटरंगा, रौजागांव, रूदौली, गौरियामऊ, बड़ागांव, देवराकोट, सोहावल, सालारपुर स्टेशनों पर भी रूकेगी। इसके अलावा प्रयागराज और मनकापुर से भी एक-एक मेमू ट्रेन संचालित की जाएगी। उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के पीआरओ अजीत सिंह ने बताया है कि राम मंदिर के उद्घाटन मंगलवार को किया गया और सेवा रोकी गई थी।

लेकिन मंगलवार को बसों का संचालन रोकने के बाद बुधवार से अयोध्या रूट की बसों का संचालन पूरी तरह सामान्य हो गया। बाराबंकी से अयोध्या रूट पर रोडवेज बसों के जाने की अनुमति मिलने से प्रदेश भर के विभिन्न डिपो से करीब 930 बसें अयोध्या पहुंची हैं। अयोध्या में श्रद्धालुओं की भीड़ को नियंत्रित करने व उन्हें बाहर निकालने के लिए भी बसों का इस्तेमाल किया जा रहा है।

इसके लिए अयोध्या में छह अस्थाई बस अड्डे बनाए गए है। जहां वापसी में श्रद्धालुओं को रोडवेज बसें पकड़ने में आसानी रहे। मंगलवार को भारी संख्या में अयोध्या में लोगों के पहुंच जाने की वजह से लखनऊ से अयोध्या जाने वाली बसों को रोक दिया गया था। बुधवार दोपहर से यह सेवाएं बहाल हो गईं।

इसके अलावा मेमू ट्रेन की शुरुआत भी हो गई है। परिवहन निगम की ओर से 150 बसों का संचालन किया गया, जिसमें अतिरिक्त बसें भी शामिल रहीं। इन बसों में पैसेंजरों से तकरीबन 30 हजार यात्रियों ने सफर किया। दरअसल, बीते सोमवार को अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह होने के बाद गत मंगलवार को अयोध्या की बसों में भीड़ उमड़ पड़ी थी, जिससे अयोध्या धाम में पैर रखने की जगह नहीं बची।

पैसेंजरों की संख्या बढ़ने के चलते मंगलवार दोपहर बसों को डायवर्ट करना पड़ा। रामसनेही घाट तक ही बसों को ले जाया गया, जबकि गोरखपुर-बस्ती रूट की बसों को आजमगढ़ के रास्ते चलाया गया। वहीं बुधवार को लखनऊ से अयोध्या के लिए बसों का संचालन पूरी तरह सामान्य कर दिया गया। बुधवार को आलमबाग, चारबाग, कैसरबाग और अवध बस स्टेशन से करीब 150 बसों से श्रद्धालुओं को अयोध्या रवाना किया गया।

Advertisment